VISION FOR ALL

Rahul Kumar

275 Posts

32 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 8093 postid : 774719

IISER ,Bhopal को RTI

Posted On: 17 Aug, 2014 Others में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

IISER ,Bhopal को RTI
IISER,Bhopal (Indian Institute Of Science Education and Research) को दिनांक 8/8/2014 को एक RTI application भेजा है जिसमें IISER में चयन के तीनों विधियों (किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना में चयन के आधार पर,JEE ADVANCED के रैंक लिस्ट में जगह के आधार पर और State/Central Boards students का IISER Science Aptitude Test में चयन के आधार पर ) से BS-MS Programmes के तहत वर्ष 2013 में भौतिकी संकाय के लिए चयनित छात्रों का Category wise कट ऑफ और चयन के लिए बने छात्रों के Merit list की मांग की गई है और साथ ही IISER Science Aptitude Test के रिजल्ट की सूची मांगी गई है क्योंकि मुझे जानकारी दी गई है कि IISER Bhopal कट ऑफ,Merit list और Aptitude test का रिजल्ट जारी नहीं करती।जाहिर है कि चोरी-छिपे भ्रष्ट माध्यम से ऐसे छात्रों का भी नामांकन हो जाता है जिसका मेरिट लिस्ट में नाम नहीं होती या जो Amptitude Test में उतीर्ण नहीं होते।कट ऑफ,मेरिट लिस्ट और रिजल्ट सार्वजनिक नहीं करने के पीछे का दूसरा कारण दिखता ही नहीं।इसकी पूर्ण संभावना है कि IISER सूचना प्रदान नहीं करेगी ,फिर मैं केन्द्रीय सूचना आयोग में शिकायत दायर करुँगा।

…………………..
Equality before law is not established even under the provisions of our
constitution.Only it has been mentioned under Article 14 of the
Constitution…Even in the Article 15 and 16, there is descrimination to
the poors because the both articles bar descrimination on the ground of
caste,sex,religion,place of birth etc,but not on the ground of
poverty..

……………..

हमलोग शायद जानते नहीं हैं लेकिन ये सत्य है कि ज्यादातर असत्य आरोप लगाया जाता है और लोग तार्किक और बोध्दिक परीक्षण किए बगैर उस आरोप पर यकीन कर लेते हैं।अब कोई हरिश्चंद नहीं है जो सत्य बोलेगा।अपने निजी स्वार्थ या किसी थर्ड पर्सन के दवाब,डर या प्रलोभन के कारण ज्यादातर असत्य आरोप ही लगाया जाता है।

………………..

मेरठ गैंगरेप,अपहरण और जबरन धर्म-परिवर्तन का मामला कथित पीड़िता का मजिस्ट्रेट के समक्ष दी गई बयान के आधार पर असत्य प्रतीत होता है,लेकिन धार्मिक मतांधता से ग्रसित लोगों और मीडिया ने इस असत्य मामला को लेकर काफी हल्ला मचाया।

1.कथित पीड़िता ने बयान दिया कि उसका अपहरण करके गैंगरेप किया गया और जबरन धर्म-परिवर्तन करवाया गया।जब पीड़िता को गर्भधारण होने के बारे में पता चला तो उसने मुख्य अभियुक्त को खबर दी और उसने गर्भपात करवा दिया।
जब पीड़िता का गैंगरेप हुआ तो उसने घटना की त्वरित सूचना पुलिस को देने के बजाय गर्भधारण होने का इंतजार क्यों करती रही और फिर इसकी खबर मुख्य अभियुक्त को क्यों दी?

2.जब अपहरण किया गया था तो पीड़िता के माँ-बाप लगातार चुप क्यों रहे?पहली बार ले जाकर गैंगरेप और धर्म-परिवर्तन करवाया गया और फिर ले जाकर गर्भपात करवाया गया लेकिन अपहरण की जानकारी होने के बावजूद उसके माँ-बाप ने पुलिस को सूचना क्यों नहीं दी?

3.पीड़िता ने खुद बयान दिया कि उसे तीन साल पहले से ही इस्लामिक विचार में रुचि हो गया था,धर्म-परिवर्तन करने के लिए उस समय जन्नत का झासा देकर उसे बहका दिया गया।इसलिए जबरन धर्म-परिवर्तन नहीं करवाया गया।

……………………

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran